News

न्यू इण्डिया मंथन-संकल्प से सिद्धि कार्यक्रम की कार्यवाही

कृषि विज्ञान केंद्र कालाकंाकर, प्रतापगढ़ द्वारा 27 अगस्त, 2017 को केवीके परिषर में भारत सरकार के कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रायोजित संकल्प से सिद्धि - न्यू इण्डिया मंथन (2017-2022) का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का औपचारिक उद्घाटन प्रतापगढ़ के सांसद माननीय कुॅवर हरिबंश सिंह मुख्य अतिथि तथा श्री जय प्रताप सिंह, आबकारी मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार, बतौर विशिष्ट अतिथि द्वारा दीप प्रज्वलित करके किया गया इस अवसर पर कृषि विज्ञान केन्द्र की अध्यक्षा राजकुमारी रत्ना सिंह उपस्थित रहीं।

कृषि विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डा0 ए0के0 श्रीवास्तव ने के0वी0के0 की कार्य योजना एवं उपलब्ध्यिों के बारे में बताया।

इस कार्यक्रम में प्रतापगढ़ जनपद के 1240 से अधिक किसानों ने भाग लिया। इस अवसर पर किसानों को समर्पित वीडियो भी जनपद के किसानों को भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के संदेश के साथ दिखाया गया।

कृषि नालेज एण्ड मैनेजमेन्ट निदेशालय के निदेशक डा0 एस0 के0 सिंह ने किसानों को खेती में आमदनी बढ़ाने के लिए नवीनतम तकनीकियों के अन्तर्गत नये कृषि यंत्र, उन्नत बीज, मृदा परीक्षण, कृषि आधारित वयावसायिक प्रशिक्षणों पर जोर दिया।

श्री जय प्रताप सिंह, आबकारी मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार ने कहा कि 5 वर्षों में किसानों की आय को दोगुना करने हेतु हमें वाटर कन्जरवेशन, सिचाई की नई तकनीकि टपक सिंचाई तथा बौछारी सिंचाई, जीरो टिलेज की उपयोगिता पर प्रकाश डाला और किसानों को इन सभी तकनीकों को कृषि विज्ञान केन्द्र के माध्यम से अपने खेत में प्रयोग करने को कहा।

बतौर मुख्य अतिथि कुॅवर हरिबंश सिंह ने प्रतापगढ़ जिले के किसानों को कृषि तथा अन्य क्षेत्रांे में केन्द्र द्वारा प्रयोजित योजनाओं के लाभ उठाने का सुझाव दिया। उन्होंने नवीनतम कृषि प्रौद्योगिकियों को अपनाने के महत्व पर प्रकाश डाला और कृषि और संबद्ध विभाग के अधिकारियों को सलाह दी कि वे उपलब्ध संसाधनों की पूरी क्षमता का फायदा उठाने में मदद करें। इसके साथ ही वैज्ञानिको तथा अतिधकारियों से कहा कि यदि नील गाय, जंगली सुअर का नियंत्रण करने का तरीका खोज ले तो किसानों की आय निश्चित रूप से बढ़ जायेगी। किासनों को खेती बिजनेस के तौर पर करना चाहिए न कि गुजर बसर करने के लिए। माननीय सांसद जी ने किसानों की आय को दोगुना करने हेतु काम करने के लिए किसानों, कर्मचारियों व अधिकारियों के साथ सपथ ली।

मुख्य अतिथि महोदय ने कालाकाॅकर महिला आभिरूचि समूह द्वारा स्थापित अगरबत्ती उत्पादन इकाई का भी उदघाटन किया। गृह वैज्ञानिक श्रीमती स्वाती दीपक दुबे ने बताया कि यह समूह अगरबत्ती का उत्पादन कर स्थानीय बाजार में विक्रय हेतु उपलब्ध करायेगा।

उप कृषि निदेशक डा0 रघुराज सिंह ने कृषि योजनाओं के बारे में बताया और कहा कि किसान आनलाइन पंजीकरण करके लाभ ले सकते हैं।

केन्द्र की अध्यक्षा माननीया राजकुमारी जी ने मुख्य अतिथि तथा गणमान्य अतिथि एवं विभिन्न विभाग से आये वैज्ञानिकों, अधिकारियों तथा किसानों का स्वागत एवं अभिनन्दन किया। साथ ही कहा कि जनपद प्रतापगढ़ खेती के साथ-साथ आॅवला तथा आम की बागवानी के लिए प्रसिद्ध जिला है। किसान कृषि की नयी एवं आधुनिक तकनीकियों को अपनाकर ही आय को दोगुना कर सकते है इसके लिए कृषि विज्ञान केन्द्र सदैव उनके साथ है। किसान भाई कृषि के साथ मौन पालन, मछली पालन, मुर्गी पालन आदि व्यावसाय को अपनाकर आय बढ़ा सकते है।

इस अवसर पर श्री महेन्द्र सिंह, राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार ग्राम्य विकास उ0प्र0 सरकार, श्री अमित जायसवाल पादप सुरक्षा अधिकारी, श्री विद्याभूषण सिंह मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, श्री रोहित राज प्रबन्धक स्टेट बैंक आफ इण्डिया आलापुर, प्रबन्धक बैंक आफ बड़ौदा, प्रबन्धक क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक कुसुआपुर उपस्थित रहे। डा0 भाष्कर शुक्ला ने कार्यक्रम का संचालन किया।

(ए0के0 श्रीवास्तव)

वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं हेड